Shiv Gayatri Mantra Lyrics | शिव गायत्री मंत्र लिरिक्स - in some more lanugages

shiv gayatri mantra in hindi

श्रावण शिव आराधना के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण महीना माना जाता है। सभी सनातन धर्मावलंबी शिव के कई रूप की पूजा करते हैं। भगवान शिव साक्षात महाकाल है, जो सृष्टि के पालक और संहारक हैं। मानव को किसी प्रकार का कष्ट होता है तो वह उसके ही कर्म का फल है। अगर शिव की आराधना शक्ति अर्थात गायत्री मंत्र से किया जाए तो पाप का समूल नाश होता है। क्योंकि गायत्री को महाकाली भी कहा जाता है। शिव गायत्री मंत्र का पाठ अत्यंत ही सरल और महाफलदायक है

shiv gayatri mantra lyrics in hindi


ऊं तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि,
 तन्नो रुद्र: प्रचोदयात।

गणेश गायत्री मंत्र परने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे >>>> Ganesh Gayatri Mantra In Hindi


shiv gayatri mantra lyrics in english

Om Tatpurushaya Vidmahe Mahadevaya Dheemah,
 Tanno Rudra: Prachodayat.

shiv gayatri mantra in bengali


ওম তৎপুরুষায় বিদমহে মহাদেবায় ধীমাঃ,
 তন্নো রুদ্রঃ প্রচোদয়াৎ।

हनुमान गायत्री मंत्र परने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे >>>> Hanuman Gayatri Mantra In Hindi

Shiv Gayatri Mantra in lyrics hindi and english


shiv gayatri mantra benefits


शिव गायत्री मंत्र का जाप अकाल मृत्यु से बचाता है। जिनकी कुंडली में काल सर्पयोग, राहु-केतु, शनि पीड़ा आदि हो उसे भी यह मंत्र राहत दिलाता है। प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवनकाल में इस महामंत्र का जाप अवश्य करना चाहिए। इसके जाप से मानसिक शांति, कीर्ति और समृद्धि मिलती है। बैद्यनाथधाम के परिपेक्ष्य में शिव गायत्री मंत्र और भी फलदायी है।

भगवान शिव के बारे -  मेंशंकर (शिव) जी को संहार का देवता कहा जाता है। शंंकर जी सौम्य आकृति एवं रौद्ररूप दोनों के लिए विख्यात हैं। अन्य देवों से माना गया है। सृष्टि की उत्पत्ति, स्थिति एवं संहार के अधिपति शिव हैं। त्रिदेवों में भगवान शिव संहार के देवता माने गए हैं। शिव अनादि तथा सृष्टि प्रक्रिया के आदि स्रोत हैं और यह काल महाकाल ही ज्योतिषशास्त्र के आधार हैं। शिव का अर्थ यद्यपि कल्याणकारी माना गया है, लेकिन वे हमेशा लय एवं प्रलय दोनों को अपने अधीन किए हुए हैं।अधिक पढ़ें>>>